अकेलेपन की शिकार भाभी की ताबड़तोड़ चुदाई-1

Akelepan ki shikar bhabhi ki tabadtod chudai-1

एक रात दो बजे मुझे एक भाभी ऑनलाइन मिली.उसने बताया कि वो अकेली है और बोर हो रही है. मेरी उससे दोस्ती हो गयी और मैं अगले दिन उसके घर गया तो …

हॉट भाभियों और नई चूत वाली कच्ची कलियों को मेरा लंड भरा प्रणाम.

मेरा नाम अभिमन्यु है और मैं मंडला में रहता हूँ पेशे से एक कॉन्ट्रेक्टर हूँ। इसके पहले मैं बालाघाट में रहता था और पढ़ाई जबलपुर से की है. मेरी हाइट 5’10”, चौड़ा सीना और आकर्षक दिखता हूँ।

यह मेरे साथ घटित एक अच्छा और सच्चा अनुभव है जो मैं आप सभी के साथ बांटना चाहता हूं।

बात पिछले 2 साल पहले की है जब मैं 23 का साल था और जबलपुर में रेगुलर स्टूडेंट हुआ करता था. हॉस्टल में रहने की वजह से मुझे रात में काफी देर तक जागने की आदत लग गई थी क्योंकि लौंडे रात भर बहुत बकचोदी करते हैं।

एक दिन मैं फेसबुक में एक दो नए माल पटाने के लिए देख रहा था और 2-3 हॉट दिखने वाली जबलपुर की ही भाभियों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी. उनमें से एक ने तुरंत मेरी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली. उस समय रात के 2 बज रहे थे, मैंने सोचा कि इतनी रात में इतना हॉट माल क्यों ऑनलाइन है. इसे तो अपने पति के नीचे होना चाहिए. लेकिन ऑनलाइन क्यों है? और तुरंत मेरी रिक्वेस्ट कैसे स्वीकार कर ली?

मेरी चुल्ल बढ़ती जा रही थी तो मैंने तुरंत उस हॉट भाभी को एक मैसेज किया ‘हाय’
मुझे भी तुरंत में उस बला की खूबसूरत माल का रिप्लाई आया.
तो मैं खुश हो गया कि चलो रात काली नहीं जायगी कोई तो मिली।

थोड़ी देर नॉर्मल बातें करने के बाद मैंने उसे पूछा कि आप इतनी रात में को क्यों ऑनलाइन हैं?
तो उस लौड़ी ने तुरन्त रिप्लाई किया कि उसका पति घर में नहीं है और उसे अकेले नींद नहीं आती.
उसकी इस बात पर मैं मज़ाक में बोला- अगर अकेले में नींद नहीं आ रही है तो बोलो तो मैं आ जाता हूँ.

मेरी इस हरकत पर वह कुछ नहीं बोली तो मेरी गांड ही फट गई थी.
बहनचोद!
मैंने फिर से मेसेज करके सॉरी बोला.

तो उसका रिप्लाई आया- सॉरी मत बोलो, मुझे सही में अकेले में नींद नहीं आती है, पति के साथ सोने कि आदत हो गई है ना.
मैं बोला- ऐसी भी क्या आदत होना कि पति के बिना नींद ही न आये.
इस पर उसका रिप्लाई आया- पति रहते हैं तो मुझे थका डालते हैं सोने से पहले; तो मुझे भी तुरन्त नींद आ जाती है.

उस लौड़ी की इस बात का मैं कायल हो गया और उसका इशारा समझ गया.
तो मैंने पूछा- अच्छा जी, तो कैसे थका देते हैं आपके पति आपको?
उसने बोला- लगता है कुंवारे हो, तभी ऐसी बातें पूछ रहे हो.

तो मैंने उसको बताया- हाँ, अभी तो मैं 23 साल का हूँ और पढ़ाई कर रहा हूँ.
मेरी बात सु्न कर वो बोली- क्या तुम्हारी कोई प्रेमिका नहीं है?
तो मैंने झूठ बोल दिया- नहीं … मेरी कोई प्रेमिका नहीं है.

अब उस लौड़ी का रिप्लाई आया- अच्छा तो क्या मैं तुम्हारी प्रेमिका बन जाऊं?
उसकी यह बात सुन कर मेरी तो गांड ही फ़ट गई और मैं खुश भी बहुत हो रहा था कि यार इतना सेक्सी टाइप का माल है. यह मिल जाये तो जन्नत की सैर हो जाए.

मैंने जैसे तैसे बातों का सिलसिला जारी रखा फिर बातों का रुख अब धीरे धीरे सैक्स की तरफ बढ़ने लगा और बातें और भी रोमांटिक होती चली गई.
फिर उसने मुझसे पूछा कि मैं कहाँ रहता हूं तो मैंने बता दिया कि मैं भी जबलपुर का ही हूँ.

तो उसने मुझे मिलने के लिए पूछा तो मैंने भी हाँ कह दिया.
फिर मैंने पूछा- यदि तुम्हारे पति को पता चल गया तो तुम्हें कोई परेशानी नहीं होगी क्या?
उसने बताया कि उसका पति 1 महीने के लिए कहीं बाहर गया हुआ है और वह घर में अपनी बेबी और एक नौकरानी के साथ ही अकेली रह रही है.

तो मैंने पूछा- क्या हम मिल सकते हैं?
उसने मुझे अपना अड्रेस और मोबाइल नम्बर दिया.

अब मेरी गांड फट रही थी खुशी और उत्तेजना की वजह से! वह लौड़ी मेरे पास वाली कालोनी में रहती थी और मेरा रूम शरदा टॉकीज के पास था.

क्या बताऊँ दोस्तो … जब मैं उससे मिलने उसके घर पहुंचा तो उसकी नौकरानी ने दरवाज़ा खोला और वह भी कम माल नहीं थी. गोरी चिट्टी आंखों में काजल, बड़े बड़े दूध, पतली कमर और गोल गांड और फिगर 34 28 36 का था जो मुझे बाद में पता चल ही गया था.
और वह भी कम रंडी नहीं लग रही थी … ऐसे लग रही थी जैसे अभी चोदने के लिए दे देगी क्योंकि मुझे देख कर वह लगातार मुस्कुराये जा रही थी.

वो बोली- अंदर आइये, आपका ही इंतज़ार हो रहा है.
मैं थोड़ा कन्फ्यूज़ हुआ.
लेकिन अंदर चला गया और सोफे में बैठ गया.

फिर उस रंडी नौकरानी ने जाकर अपनी मालकिन जिससे मैं मिलने आया था उसे बुलाया. उसे देखते ही मेरी गांड सन्न हो गई, मुँह सूख गया. लाल रंग की स्लीवलेस नाइटी जो उसके घुटनों तक ही थी, उसमें कैद उसका गदराया हुआ बदन, उमर करीब 32 की और बूब्स 36, कमर 30, और गांड भी 38 की रही होगी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

बहनचोद क्या कहर ढा रही थी. मैं तो देखता ही रह गया. मेरी आँखें फटी की फटी रह गयी थी.
और अंदर ही अंदर गांड भी फट रही थी.

उसका नाम सीमा था। सीमा जैसी गदराए हुए बदन की मालकिन को देख कर तो मुर्दे का भी लौड़ा खडा हो जाए. इतनी मस्त माल है सीमा!
उसके सामने तो मैं एकदम कौला और नया लंड था. तो मेरी तो हालत वैसे ही खराब हुए जा रही थी.

अब वो आयी तो उसने अपनी नौकरानी को जाने के लिए बोला.
तो वह रंडी बोली- दीदी आराम से … नया और कौला है.
सीमा ने बोला- तू चिन्ता मत कर, तुझे भी मिलेगा.

अब वो रंडी मुझे देख के हंसने लगी और चली गई। अब वहाँ सिर्फ मैं और सीमा ही बैठे हुए थे तो हम दोनों ने बात करनी शुरू करी.
सीमा ने मुझसे मेरे बारे में पूछा कि मैं क्या करता हू कहाँ रहता हूं. और भी बहुत कुछ!
और अपने बारे में बताने लगी कि वह एक घरेलू महिला है और अकेले में कितनी बोर होती रहती है. इसलिए अपनी नौकरानी से दिन भर बात करती रहती है. दोनों एक दूसरे से सब कुछ शेयर करती हैं.

ओह … इसलिए वह नौकरानी मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी।

सीमा बता रही थी कि वो रात में अकेले में बहुत बोर होती है. इसलिए रात भर फेसबुक और व्हाट्सएप्प में ऑनलाइन रहती है।

फिर वह मेरे पास आकर बैठ गई तो मेरी गांड फटने लगी. वह मेरी हालत समझ चुकी थी और मुझसे पूछने लगी कि क्या मैं ड्रिंक करता हूँ.

तो ड्रिंक्स की बात सुन कर ही मेरे मुँह में पानी आ गया और मैंने हाँ बोल दिया.

वह भी तुरन्त उठी, एक स्कॉच की बॉटल लेकर आई और दोनों के लिए पैग बनाने लगी।

अब 2-2 पैग पीने के बाद हम दोनों एक दूसरे से खुल कर बात करने लगे और वह भी मस्त हो गई थी. फिर उसने बोला- अब तो मैं तुम्हारी प्रेमिका बन गई हूं. तो फिर तुम इतनी दूर क्यों बैठे हो? भला कोई अपनी प्रेमिका से इतना दूर बैठता है क्या?
तो उसकी बात सुन कर मैंने उसे अपनी तरफ खींचा तो उसने भी मुझे अपनी बांहों में भर लिया और नशीली आंखों से मुझे देखने लगी.

वो बोली- सच सच बताओ, तुम्हारी कोई प्रेमिका है या नहीं? क्योंकि देख कर ही मैं समझ गई थी कि तुम सिर्फ चुदाई के लिए ही आये हो.
उसकी बातें सुन कर मैं थोड़ा हक्का बक्का रह गया.

फिर मैंने उसको बताया कि कॉलेज में लड़की मेरी प्रेमिका थी जिसके साथ मैंने बहुत बार चुदाई की. लेकिन अब हम दोनों की बात नहीं होती है और इसलिए मैं आपसे बात कर रहा था और मिलने आया हूँ.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Post a Comment